अंक शास्त्र मूलांक ४ की जानकारी-Numerology Moolank 4 Ki Jankari

अंक शास्त्र मूलांक ४ की जानकारी-Numerology Moolank 4 Ki Jankari

मूलांक ४ की जानकारी- अंक शास्त्र के अनुसार किसी भी व्यक्ति के जन्म की तिथि के समय जो ग्रह उस व्यक्ति कि जन्म कुंडली में उपस्तिथ होते हैं उसका उस व्यक्ति के जीवन में उन ग्रहों का प्रभाव असर करता है | उसी प्रकार न्यूमेरोलॉजी यानी कि अंक ज्योतिष में भी अंकों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है |

अंकों का हमारे जीवन में विशेष महत्व है हम जिस तिथि में जन्म लेते हैं उसका प्रभाव हमारे भाग्य पर पड़ता है | क्योंकि हर तिथि का अपना महत्व है इसलिए हर अंक या नंबर की एक वाइब्रेशन होती है |

जिसका प्रभाव हमारे व्यक्तित्व के साथ साथ साथ-साथ चरित्र, स्वभाव, व्यवसाय, प्रेम, शिक्षा, आर्थिक स्थिति, रोजगार आदि पर भी पड़ता है |  इन सब को जानकर हम अंक ज्योतिष के माध्यम से अपने जीवन को सुखी एवं समृद्ध बना सकते हैं |

दोस्तों अंक शास्त्र के अनुसार किसी भी व्यक्ति की जन्म तिथि उसकी जीवन पर बहुत सारे जीवन के पहलुओं पर प्रभाव डालती है |

अंक शास्त्र में जन्म तिथि के माध्यम  से किसी भी व्यक्ति का मूलांक निकालकर किसी भी व्यक्ति का जीवन, चरित्र, व्यवसाय, कंपैटिबिलिटी ऑफ फ्रेंडशिप, प्रेम संबंध, शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य, शुभ दिन शुभ तिथियां और बहुत सारी जानकारी प्राप्त करने में अच्छी सफलता मिलती है |

मित्रों आज हम अंक शास्त्र कि श्रृंखला को आगे बढ़ाते हुये मूलांक ४ के बारे में जानकारी प्रदान करने कि कोशिश करेंगे और लेख में हम आपको मूलांक ४ के बारे में आपको बहुत सारी महत्वपूर्ण जानकारी देने वाले हैं |

मूलांक ४

जैसा कि हम जानते है कि अंक शास्त्र के अनुसार जिन लोगों का जन्म किसी भी महीने की ४, १३, २२, और ३१तिथि को हुआ है उन लोगों का मूलांक ४  होता है जन्मतिथि से मूलांक ४  कैसे निकलता है अब आप बहुत ही आसान तरीके से समझ सकते हैं | जिस किसी भी व्यक्ति का जन्म किसी भी महीने की १३,२२,३१ तिथि को हुआ है तो उस तिथि के दोनों अंको को जोड़ने पर जो संख्या प्राप्त होती है वह उस व्यक्ति का मूलांक होता है जैसे कि (१३ का मूलांक १+३=४, २२ का मूलांक २+२=४ और ३१का मूलांक ३+१=४ होगा ) |

अब हम विस्तार से मूलांक ४  के बारे में जानेंगे |  मित्रों सबसे पहले बात करते हैं मूलांक ४ के स्वामी के बारे में इस अंक का स्वामी ग्रह राहु है | और कभी-कभी वेस्टर्न तो वेस्टर्न में इसे ४ :00 यानि यूनेस्को ४ कहा जाता है और अंक ४  का स्वामी ग्रह भी  मानते हैं |

चाहे कुछ भी हो दोनों ही ग्रह अचानक घटनाएं कर देते हैं और कुछ हट कर बनाने के प्रतीक होते हैं |

मूलांक ४ शारीरक बनावट

शारीरिक बनावट के मामले में  यह लोग बहुत मजबूत होते हैं | परंतु देखने में औसत सारे रूप से स्वस्थ मजबूत स्वच्छ और सुंदर होते हैं | आप की छवि बड़ी शानदार और आंखों में सुन्दरता तथा स्वभाव से  पुराने रीति-रिवाजों के तो पक्के विरोधी होते हैं |

और यह हमेशा सबसे अलग ही राह चुनते हैं यह लोग क्रांतिकारी, आविष्कारक तथा वैज्ञानिक होते हैं | सोच की वजह से यह कभी-कभी घमंडी अंकारी और भी बन जाते हैं | अगर इनके पॉजिटिव सकारात्मक गुणों की बात करें तो यह  प्रैक्टिकल और आप आपको हैरानी में डालने वाले टैलेंट रखते हैं |

घर की की बाहर की समाज की विज्ञान की सभी तरह की लेटेस्ट जानकारी रखते हैं मूलांक ४  और लोग किसी भी संस्थान में ऊंचा स्थान प्राप्त कर सकते हैं क्योंकि यह समय के पाबंद समझदार मेहनती और प्रतिभाशाली होते हैं |

टैलेंट  तो इनके अंदर  कूट-कूट कर भरा हुआ होता है | और हां यह आडंबर करना यानी कि दिखावा करना भी बहुत ज्यादा पसंद करते हैं |

मूलांक ४ शिक्षा और व्यवसाय

अगर देखा जाये तो  मूलांक ४ वाले व्यक्ति  उच्च शिक्षा प्राप्त करने में रुचि रखते हैं | इंटेलिजेंट होने की वजह से इनकी विद्या में कोई रुकावट नहीं आती बल्कि यह हमेशा अच्छे नंबरों से पास होते हैं |

स्कूल और कॉलेज एजुकेशन में भी विशेष उपलब्धि  होती है | रोजगार व्यवसाय और आर्थिक स्थिति में जिंदगी में बहुत सारी चुनौतियां आती है | इन्हें काफी सारी उम्र इसका भी सामना करना पड़ता है |  lekin फिर भी ४५  वर्ष की आयु तक यह अपने पेशे में बहुत बड़ा परिवर्तन लेकर आते हैं |

मूलांक ४ वाले व्यक्ति अच्छे व्यापारी, इंजीनिय,र पायलट, प्रोफेसर, डिज़ाइनर व वकील मैकेनिक, इलेक्ट्रीशियन और बड़े बड़े अधिकारी के रूप में देखे जा सकते हैं |

मूलांक ४ प्रेम सम्बन्ध और फ्रेंडशिप

प्रेम संबंध और फ्रेंडशिप में अगर देखा जाये तो मूलांक ४ वाले व्यक्ति का सब से दोस्ती करने में और घुल मिलकर रहने में विश्वास रखते हैं | मूलांक ४  वाले पुरुषों में भी उनके पत्नी का कुछ विशेषता होती है | इन्हें किसी के प्रेम में पडने में ज्यादा देर नहीं लगाते हैं |

यह अपने प्रेमी या प्रेमिका के साथ अच्छे से पेश आते हैं और उनका व्यवहार शानदार होता है | ४ अंक वालों का अक्सर  प्रेम विवाह होने की संभावना अधिक होती है | परंतु इन्हें पारिवारिक अशांति का भी सामना करना पड़ सकता है |

मूलांक ४ विशेषताएं

इनकी विशेषताएं यह है कि इन्हें पहले से बने हुए रूल या कायदे कानून बिल्कुल पसंद नहीं आते यह उन्हें तोड़ देते हैं | जहां भी जाते हैं चुप नहीं बैठते हैं बल्कि बड़े बड़े परिवर्तन कर डालते हैं | इन्हें दूसरों को हैरान और इंप्रेस करने में बड़ा मजा आता है | दिखावा तो बहुत बढ़िया तरीके से करते हैं और इनको देख कर इनको देख कर कोई भी इनको बहुत अमीर मान लेगा |

मूलांक ४ शुभ दिन शुभ तिथि

मूलांक ४ वाले व्यक्तियों के शुभ दिन रविवार, सोमवार और शनिवार इनके लिए शुभ रहते हैं | और इनकी शुभ तिथियाँ २,४,७,१३,और २२ को कोई सा भी शुभ कार्य करने के लिए चुन सकते हैं |  इन तिथियों को आप शुभ काम करने के लिए चुन सकते हैं |

शुभ रंग मूलांक ४  के लिए अधिकतर लकी रंग होते हैं मिले-जुले रंग जैसे कि गहरा हरा और साथ ही साथ आप इलेक्ट्रिक ब्लू भी चुन सकते हैं दोस्ती या कंपैटिबिलिटी ७ और ८  मूलांक वालो लोगों के साथ दोस्ती प्रेम विवाह करना चाहिए मित्रों अब तो आप के बारे में काफी कुछ जान और समझ गए होंगे | आशा करता हूँ कि जो लोग अंक शास्त्र के इस अंक से हैं उन्हें यह जानकारी पसंद आयी होगी |

3 thoughts on “अंक शास्त्र मूलांक ४ की जानकारी-Numerology Moolank 4 Ki Jankari

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *